Mukhya Mantri Covid-19 Yoddha Kalyan
Mukhya Mantri Covid-19 Yoddha Kalyan

Mukhya Mantri Covid-19 Yoddha Kalyan : इस योजना के तहत यदि किसी कोरोना वारियर की मौत कोरोना संक्रमण के कारण हो जाती है तो सरकार द्वारा आर्थिक सहायता के स्वरूप उसके परिवार को 50 लाख रुपये की राशि दी जाएगी |

सरकार द्वारा कोविड-19 महामारी की रोकथाम हेतु कार्य कर रहे स्वास्थ्य कर्मियों के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज के अंतर्गत विशेष बीमा योजना प्रारंभ की गई है

मध्यप्रदेश शासन द्वारा राज्य में कोविड-19 महामारी की रोकथाम हेतु योद्धाओं की तरह सेवा दे रहे कर्मियों के कल्याण के लिए मुख्यमंत्री कोविड-19 योद्धा कल्याण योजना (Mukhya Mantri Covid-19 Yoddha Kalyan) लागू की जाती है.

राज्य शासन ने ‘मुख्यमंत्री कोविड-19 योद्धा कल्याण योजना को 1 अप्रैल 2021 से 31 मई, 2021 तक की अवधि के लिये पुन: लागू किया है। पूर्व में यह योजना 31 अक्टूबर, 2020 तक थी ।

उद्देश्य

मध्य प्रदेश राजकीय कोविड-19 प्रभावित रोगियों को अपनी सेवा प्रदान कर रहे हैं कोविड-19 योद्धाओं के कल्याण के लिए यह योजना लागू की जा रही है.

पात्र कर्मी

  1. लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग, चिकित्सा शिक्षा विभाग एवं आयुष विभाग के समस्त सफाई कर्मचारी, वार्डबाय, नर्स, आशा कार्यकर्ता, पैरामेडिक्स, तकनीशियन डॉक्टर और विशेषज्ञ और अन्य स्वास्थ्य कार्यकर्ता.
  2. नगरी प्रशासन विभाग के समस्त सफाई कर्मचारी.
  3. गृह विभाग, राजस्व विभाग, नगरी प्रशासन विभाग, शहरी स्थानीय निकायों सहित एवं अन्य विभागों के कर्मी जो कोविड-19 महामारी के लिए अपनी सेवाएं प्रदान करने के लिए राज्य सरकार के सक्षम प्राधिकारी द्वारा अधिकृत हैं.
  4. इस योजना में शामिल करने के उद्देश्य कर्मी का आशय राज्य सरकार के विभागों के कर्मचारी या उसके बोर्ड/ निगम / प्राधिकरण / एजेंसी / कंपनियों आदि के द्वारा नियुक्ति स्थाई / अनुबंधित / दैनिक वेतन / तदर्थ आउट सोर्स / सामुदायिक स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं आदि शामिल हैं.
  5. प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज बीमा योजना के तहत बीमित स्वास्थ्य कर्मी के अतिरिक्त अन्य सभी स्वास्थ्य कर्मी इस योजना के लिए पात्र होंगे

योजना के तहत कवरेज

1 कोविड-19 के कारण जीवन की हानि एवं
2 कोविड-19 से संबंधित सेवा के दौरान दुर्घटना से आकस्मिक मृत्यु

अधिकतम वित्तीय कवरेज

1 इस योजना के अंतर्गत पात्र कर्मी कल्याण के लिए उनके दावेदार को 50 लाख रुपए का भुगतान किया जाएगा

2 संगरोध अवधि (Quarantine Period) के दौरान या कोविड-19 योद्धाओं के उपचार के लिए किसी भी प्रकार का खर्च कर्मचारी या उसके दावेदार को भुगतान या देय नहीं होगा.

सक्षम अधिकारी

जिला कलेक्टर अपने जिला क्षेत्राधिकार में आने वाले किसी भी दावे के संबंध में सक्षम अधिकारी होगा.

दावा प्रस्तुत करने की प्रक्रिया

  1. दावेदार को आवश्यक दस्तावेजों के साथ दावा प्रपत्र भरकर इसे संबंधित विभाग को प्रस्तुत करना होगा.
  2. संबंधित कार्यालय इस संबंध में आवश्यक प्रमाण पत्र देगा और इसे सक्षम अधिकारी यानी कलेक्टर को अग्रेषित करेगा.
  3. सक्षम अधिकारी (कलेक्टर) दावे को प्रसंस्करण करेगा, स्वीकृति जारी करेगा, बिल तैयार करेगा और दावे की राशि को जारी करने के लिए जिला कोषालय में बिल जमा करवाएगा. कोषालय के द्वारा संबंधित व्यक्ति के खाते में राशि जारी की जाएगी.
  4. दवा राशि हेतु पात्रता के क्रम में पति/पत्नी (जैसी भी स्थिति हो) प्रथम हकदार होंगे | इनके ना रहने की स्थिति में विधिक संतानों (विवाहित पुत्री को छोड़कर) एक से अधिक होने पर बराबर राशि, विधवा / परित्यक्ता पुत्री / विधवा पुत्रवधू (यदि वह पूर्णता आश्रित हो) माता-पिता, भाई-बहन (यदि वह पूर्णता आश्रित हो) को क्रमिक रूप से दावा राशि हेतु पात्रता होगी.

निम्नलिखित दस्तावेजों की आवश्यकता होगी

  1. नामांकित / दावेदार व्यक्ति द्वारा विधिवत भरा और हस्ताक्षरित दावा प्रपत्र
  2. मृतक का पहचान प्रमाण पत्र (प्रमाणित प्रति)
  3. दावेदार का पहचान प्रमाण (प्रमाणित प्रति)
  4. मृतक और दावेदार के बीच संबंधों का प्रमाण पत्र (प्रमाणित प्रति)
  5. प्रयोगशाला रिपोर्ट जिसमें यह प्रमाणित किया गया हो कि कोविड-19 (मूल या प्रमाणित प्रति) के परीक्षण में सकारात्मक परिणाम आए थे
  6. जिस अस्पताल में मृत्यु हुई हो उस अस्पताल द्वारा निर्गत मृत्यु सारांश (प्रमाणित प्रति)
  7. मृत्यु प्रमाण पत्र (मूल में)
  8. रद्द किया हुआ चेक (वांछनीय मूल में)
  9. संबंधित कार्यालय द्वारा जारी प्रमाण पत्र जिसमें यह प्रमाणित किया गया हो कि मृतक उसी कार्यालय का कर्मचारी था एवं कोविड-19 के रोकथाम हेतु कार्य कर रहा था